समर्थक

शनिवार, 10 अगस्त 2002

गधा...

हंसना ज़रूरी है. क्यूंकि …

यदि सुबह-सुबह हास्य ध्यान योग का अभ्यास किया जाए, तो दिनभर प्रसन्नता रहती है।

गधा...वायरस : मैं उन्हें गधा समझता हूँ जो अपनी बात दूसरों को नहीं समझा सकते ?

रैंचो : जी सर ! मैं आपकी बात समझ नहीं पाया... !!!