समर्थक

गुरुवार, 15 सितंबर 2011

नाटक

नाटक

दृश्य एक

प्रेमी, प्रेमिका बाग में। शाम का पहला पहर।

प्रेमिका : चांद कितने होते हैं ?

प्रेमी : एक तुम और एक ऊपर !

दृश्य परिवर्तन।

शादी के बाद। ड्राइंग रूम में …

पत्नी : चांद कितने होते हैं ?

पति : अंधी हो क्या, ऊपर क्या वह तुम्हें खरबूजा नज़र आ रहा है ? !

(पटाक्षेप अभी नहीं हुआ है, नाटक अभी ज़ारी है …)

6 टिप्‍पणियां:

  1. पत्नी - ओह ! तो वह खरबूज़ा है?
    पति - नही, वह तुमहारे डैडी की फोटो है, उन्होंने एक मेले में खरबूज़े का रोल किया था.

    उत्तर देंहटाएं
  2. aapko kya lagta hai pati ko chand kharbooja najar aata hai aur patniyo ko.........
    madhuMM

    उत्तर देंहटाएं