समर्थक

सोमवार, 22 अगस्त 2011

अंतिम इच्छा

फांसी से पहले प्रथा के अनुसार अंतिम इच्छा पूछी जाती है।

उसे फांसी दिया जाने वाला था।

उससे उसकी अंतिम इच्छा पूछा गया।

उसने कहा,

“फांसी देते वक़्त मेरा सर नीचे और पैर ऊपर कर दिया जाए।”

16 टिप्‍पणियां:

  1. उससे क्या? आखरी इच्छा तो इच्छा है। पूरी होनी ही चाहिए।

    उत्तर देंहटाएं
  2. सम्मान करना ही चाहिए मृत्यु दण्ड के अपराधी की अंतिम इच्छा का!!

    उत्तर देंहटाएं
  3. अच्छा तरीका है बस कहीं टी.वी वालो को पता न चल जाए.नहीं सो सबसे पहले आपसे ही कर के दिखाने को कहेंगे .....
    आभार

    उत्तर देंहटाएं
  4. Ha ha ha ...

    आपकी रचना बहुत अच्छी है।
    मुरली वाले जी के बारे में कुछ कोमल भावनाएं हमारी भी हैं जिन्हें आप देख सकते हैं
    ब्लॉगर्स मीट वीकली (5) में
    आपके चहेते ब्लॉगर्स के लेख आपके लिए पेश किए गए हैं।
    शुक्रिया !

    आप सभी सादर आमंत्रित हैं।
    जन्माष्टमी की शुभकामनाएं !

    उत्तर देंहटाएं
  5. चमगादड़ की प्रजाति का रहा होगा :))

    उत्तर देंहटाएं
  6. हा हा हा इच्छा का सम्मान तो होना ही चाहिये।

    उत्तर देंहटाएं
  7. हा-हा-हा ...
    अब तो उसकी इच्छा पूरी की ही जानी चाहिए।

    उत्तर देंहटाएं
  8. श्री कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  9. फांसी पर एक बेहतरीन चुटकुला. आभार.

    उत्तर देंहटाएं
  10. ...तो फिर उलटे बांस बरेली को!!

    उत्तर देंहटाएं
  11. अंतिम इच्छा पूछना इस तरह तो बंद करवा दोगे ...हम तो मर जायेंगे जी ....!!!!

    उत्तर देंहटाएं
  12. जन लोकपाल के पहले चरण की सफलता पर बधाई.

    उत्तर देंहटाएं