समर्थक

गुरुवार, 3 मार्च 2011

फुलमतिया जी का प्रश्न, खदेरन का जवाब

फुलमतिया जी यदा-कदा खदेरन के ज्ञान का टेस्ट लेती रहती हैं। उस दिन भी उनको एक प्रश्न सूझ गया तो इठलाती हुए उन्होंने पूछ ही दिया, “ऐ जी!”

“ओ जी!!” खदेरन ने कहा।

फुलमतिया जी ने पूछा, “सम्मोहन किसे कहते हैं?”

खदेरन ने अपना सर खुजाया, बहुत कोशिश की पर इसका उत्तर उसे नहीं पता था, तो नहीं पता था। बोला, “नहीं मालूम।”

फुलमतिया जी ने विजेता वाले गर्व से कहा, “किसी आदमी को अपने प्रभाव से वश में करके उससे अपना मनचाहा काम करा लेने को सम्मोहन कहते हैं।”

सुन कर खदेरन ने अपनी खींसे निपोरी और बोला, “धत्त! उसे तो शादी कहते हैं!!”

15 टिप्‍पणियां:

  1. ज्ञान-चक्षु खुल गए हैं, खदेरन के.

    उत्तर देंहटाएं
  2. देखा खदेरन कम अकल नहीं है उसे सब पता है |

    उत्तर देंहटाएं
  3. शादी और सम्मोहन एक हैं.कमाल है हम तो सम्मोहन से ही शादी होती है ऐसा समझे .आपके चुटकुले ने तो सम्मोहित ही कर दिया.ये खदेरन भी अजीब है खीसें निपोरने में .

    उत्तर देंहटाएं