समर्थक

शनिवार, 16 जनवरी 2010

प्रवीणता

प्रवीणता

पार्टी में सब अपनी-अपनी बीवी की तारीफ कर रहे थे।

कोई खाने की, तो कोई बनाने की, कोई पहनने की तो कोई सजने संवरने की।

एक ने कहा, मेरी बीवी बोलने में इतनी प्रवीण है कि किसी भी टॉपिक पर घंटों बोल सकती है।

फाटक बाबू बोले, मेरी श्रीमतीजी भी बोलने में काफी प्रवीण हैं। वो तो बिना किसी टॉपिक के ही घंटों बोल सकती हैं।

***********************************

अगर पसंद आया तो ठहाका लगाइगा

***********************************

12 टिप्‍पणियां:

  1. वाह!मेरी बीवी तो इनसे भी आगे है। वो तो नींद मे भी बोलती है।:)

    उत्तर देंहटाएं
  2. और चुप कराने के लिए बड़े से बड़ा रिमोट भी काम नहीं करता...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  3. कुल एक तो खासियत दी है भगवान् ने और आप हैंकि उसका भी ढिंढोरा पिटवाने पर तुले हो ! हा-हा-हा...

    उत्तर देंहटाएं
  4. ha ha ha ha .....mai abhi kuwara hu .... idea naha hai...bibi kitna bolti hai..

    उत्तर देंहटाएं
  5. लतीफे ने क्या चर्चा शुरू कर दी साहब...
    कहीं
    झूठ बोलने की प्रतियोगिता में अव्वल रही
    एक बात याद आ गई,
    (एक कमरे में दो महिलाएं चुपचाप बैठी थीं)
    शाहिद मिर्ज़ा शाहिद

    उत्तर देंहटाएं
  6. हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा

    उत्तर देंहटाएं