समर्थक

गुरुवार, 19 नवंबर 2009

नोंक-झोंक-1

खाना देखकर श्रीमान जी ने मुंह बिचका दिया और कहा, “फिर वही बैगन की सब्जी। तुम्हें शायद मालूम नहीं कि ज़्यादा बैगन खाने से आदमी अगले जन्म में गधा बनता है।”

श्रीमतीजी बोलीं, "जो बनाती हूँ चुपचाप खा लिया करो। यह बात तो तुम्हें पिछले जनम में सोचनी चाहिए थी।"

*************************************************************

अगर पसंद आया तो दिल खोलकर ठहाका लगाइएगा। *************************************************************

***********************************************************************************

3 टिप्‍पणियां: