समर्थक

शुक्रवार, 14 जनवरी 2011

मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएं!!

फुलमतिया जी इन दिनों कुकरी क्लास ज्वायन कर लीं हैं और उनके प्रयोग का केन्द्र बन गया खदेरन। देखते-देखते संक्रांति आ गया। हालाकि यह लाई, तिलवा के अलावा चूरा-दही और खिचड़ी खाने का दिन होता है, पर खदेरन तो खदेरन है। पूछ बैठा, “आज खाने में क्या बनाएंगी?”

फुलमतिया जी: जो आप कहो!

खदेरन : दाल चावल बना लीजिए।

फुलमतिया जी : अभी कल ही तो खिलाई थी।

खदेरन : तो सब्जी रोटी बना लीजिए।

फुलमतिया जी : बच्चे नहीं खाएंगे।

खदेरन : तो छोले पूड़ी बना लीजिए।

फुलमतिया जी : मुझे हेवी-हेवी लगता है। 

खदेरन : एग-भुर्जी बना लीजिए।

फुलमतिया जी : आज संक्रांति है, नॉन-वेज नहीं बनेगा। 

खदेरन : पराठे?

फुलमतिया जी : आज के दिन पराठे कौन खाता है?

खदेरन : होटल से मंगवा लेते हैं?

फुलमतिया जी : आज के दिन होटल का नहीं खाना चाहिए।

खदेरन : कढी-चावल?

फुलमतिया जी : दही नहीं है।

खदेरन : इडली-सांभर?

फुलमतिया जी : उसमें समय लगेगा, पहले बोलना चाहिए था ना।

खदेरन : मैगी ही बना लीजिए, उसमें समय नहीं लगेगा।

फुलमतिया जी : वो कोई मील थोड़े है? पेट नहीं भरता।

खदेरन : फिर अब क्या बनाएंगी?

फुलमतिया जी : वो, जो आप कहो!!!

14 टिप्‍पणियां:

  1. आपको भी बहुत शुभकामनायें !

    उत्तर देंहटाएं
  2. शुभकामनाएओं के लिए धन्यवाद. आपको भी शुभकामनाएँ. खदेरन को भी खाना मिल जाए सो उसके लिए भी शुभकामनाएँ. चलो थोड़ी देर बाद ही सही.

    उत्तर देंहटाएं
  3. लोहड़ी, मकर संक्रान्ति एवं उत्तरायणी की हार्दिक बधाई एवं मंगल कामनाएँ!
    --
    छत पर जाओ!
    पतंग उड़ाओ!

    उत्तर देंहटाएं
  4. आपको और आपके परिवार को मकर संक्रांति के पर्व की ढेरों शुभकामनाएँ !"

    उत्तर देंहटाएं
  5. भूषण जी से सहमत।
    खदेरन को आज खिचड़ी के अलावा भी कुछ मिलना चाहिए खाने के लिए।
    इतनी देर से फुलमतिया जी खिचड़ी ही तो पका रहीं थीं।
    आपको भी शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  6. सक्रांति ...लोहड़ी और पोंगल....हमारे प्यारे-प्यारे त्योंहारों की शुभकामनायें आपको भी

    उत्तर देंहटाएं
  7. :) :) बस अब खिचड़ी ही बची है ....

    मकरसंक्रांति की शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  8. लो जी खदेरन तो हम जैसा निकला जो खिचड़ी के दिन वो काली उरद वाली खिचड़ी नहीं खाता | आप को भी मकर संक्रांति की शुभकामनाये |

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत बढ़िया.

    आपको भी सपरिवार मकर संक्रांति की शुभकामनाएं.

    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  10. जी बस....बहुत हो गया....अब और नहीं खाया जाएगा !
    लोहरी व मकर संक्रांति की शुभकामनाएँ !

    उत्तर देंहटाएं
  11. इतना पकाने के बाद भी ....
    हां,हां,हां..हा बिलकुल राम मिलाई जोड़ी है खदेरन और फूलमतिया


    आपको लोहरी व मकर संक्रांति की शुभकामनाएँ !

    उत्तर देंहटाएं
  12. त सारा दिन एही जुगल्बंदी चलता रहा का!!

    उत्तर देंहटाएं