समर्थक

गुरुवार, 9 जून 2011

शीर्षक दें

image005 (1)

आग लागी हमरी झोपड़िया में हम गावै मलहार!

9 टिप्‍पणियां:

  1. हाहाहहााहा... क्या बात है

    उत्तर देंहटाएं
  2. बाढ़ चढ़ी हमरी अटरिया पे, हम गावैं मलहार
    भारत नेपाल ने कुछ न किया, कित जावै बिहार

    उत्तर देंहटाएं
  3. किस-किस को देखें किस-किस को रोऐं,
    आराम बड़ी चीज है मुंह ढक के सोऐं।

    उत्तर देंहटाएं
  4. अपनी तो जैसे तैसे कट जाएगी,
    आपका क्या होगा जनाबे आली!!

    उत्तर देंहटाएं