समर्थक

बुधवार, 10 फ़रवरी 2010

पतला करो केंद्र

पतला करो केंद्र

अखबार में चिकित्सक पोपटमल पतला करो केंद्र का विज्ञापन आया ।

वह विज्ञापन देख श्रीमती भगजोगिनी ने अपनी गुणवान पड़ोसिन श्रीमती खंजन से सलाह मांगी ।

श्रीमती भगजोगिनी , अखबार में चिकित्सक पोपटमल पतला करो केंद्र का ये विज्ञापन तुमने देखा

श्रीमती खंजन , हां

श्रीमती भगजोगिनी , कैसा है यह पतला करो केंद्र ?”

श्रीमती खंजन , वह वाला पतला करो केंद्र तो कमाल का है

श्रीमती भगजोगिनी , कमाल का है कैसे ?”

श्रीमती खंजन , वहां गारंटी है कि एक महीना तीन दिन में तुम्हारा वजन बीस किलो घट जाएगा ।

श्रीमती भगजोगिनी , एक महीना तीन दिन इसका मतलब क्या हुआ ? ”

श्रीमती खंजन , मतलब साफ है कि तुम तीन दिनों तक वहां जाओगी तो वो लोग तुमसे इतनी फीस खींच लेंगे कि महीना भर सिर्फ उबली दाल और सूखी रोटी के अलावा कुछ और पकाना अफोर्ड ही नहीं कर पाओगी ।


***********************************

अगर पसंद आया तो ठहाका लगाइगा

***********************************

21 टिप्‍पणियां:

  1. सही है, बहुत खूब
    इस केन्द्र का पता तो मुझे भी चाहिये

    उत्तर देंहटाएं
  2. हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा

    वाह क्या कटाक्ष है..........

    उत्तर देंहटाएं
  3. सविता जी आपका ये ब्लॉग हर बार पढ़ता हूं....और टेशन से फ्री.. फ्री में ...... हा हा हा हा .

    उत्तर देंहटाएं
  4. जिसको पतला होना हो उसकी समस्या होगी ...हम तो उबली दाल सोच कर ही दुबलाए हुए हैं ....

    उत्तर देंहटाएं
  5. हा हा हा .....बढिया!!
    http://kavyamanjusha.blogspot.com/
    रानीविशाल

    उत्तर देंहटाएं
  6. हा...हा...हा...मजेदार ....
    वैसे अब तो दालें ही इतनी महंगी हो रही हैं की उन्हें बिना उबाले ही सिर्फ उनके बारे में सोच के ही पतला हुआ जा सकता है .....

    उत्तर देंहटाएं
  7. पते की बात है ........ सही नुस्ख़ा है .........

    उत्तर देंहटाएं
  8. हा हा हा हा हा हा हा हा , बहुत खूब.

    krantidut.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं