समर्थक

गुरुवार, 18 फ़रवरी 2010

रिक्त स्थानों की पूर्ति करो

आधुनिक शिक्षा प्रणाली में सुधार के तहत फिल्मों को भी पाठ्यक्रम में शामिल कर लिया गया है। प्राथमिक कक्षा के छात्र चौपटनाथ से गुरु चुगलीकांत जी ने हिंदी फिल्म के एक प्रसिद्द डायलाग को आधा लिख कर रिक्त स्थानों की पूर्ति करने को कहा।
प्रश्न : जिनके घर शीशे के होते हैं वो............
....
...
...
...
...
...
...
...
उत्तर : वो...... लाईट ऑफ़ कर के कपड़े बदलते हैं !!
*********************************************************
अगर पसंद आया तो दिल खोलकर ठहाका लगाइएगा।
*********************************************************

22 टिप्‍पणियां:

  1. हा-हा-हा... समझदारी भी इसी में है !

    उत्तर देंहटाएं
  2. ha ha ha...... !
    sahi kaha aaj kal ghar to nahee par khidkiyaan sheeshe kee jaroor hone lagee hain !

    उत्तर देंहटाएं
  3. हा हा हा ... सच है भाई ध्यान रक्खो ...

    उत्तर देंहटाएं
  4. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  5. चुगली कांत के फंदे में नहीं फंसा चौपटनाथ :)

    उत्तर देंहटाएं
  6. हा हा हा ... सच है भाई ध्यान रक्खो ...
    ha
    ha
    haaaaaa

    उत्तर देंहटाएं