समर्थक

सोमवार, 16 अगस्त 2010

आज सिर्फ़ एक चित्र…

आज सिर्फ़ एक चित्र…


ये ई-मेल से प्राप्त हुआ। सोचा आपसे शेयर कर लूं।


बताइए इस चित्र का शीर्षक क्या हो? …. शीर्षक ऐसा हो जिससे हास्य का सृजन हो…

image011 (1)
एक शीर्षक तो मैं ही दे रही हूं जो ई-मेल में था…

मोनालिसा की बहन !!!!

16 टिप्‍पणियां:

  1. अच्छा है।


    राष्ट्रीय व्यवहार में हिन्दी को काम में लाना देश की शीघ्र उन्नति के लिए आवश्यक है।

    उत्तर देंहटाएं
  2. mujhe to chitr dikhaii hi nahi de raha hai..???
    paheli hai ki chukula ??
    ha ha ha....

    उत्तर देंहटाएं
  3. बीनालिसा...

    वैसे सही शीर्षक तो विंची ही देता

    उत्तर देंहटाएं
  4. बीनालिसा... सही कहा भाई ने.

    मेरा ब्लॉग
    खूबसूरत, लेकिन पराई युवती को निहारने से बचें
    http://iamsheheryar.blogspot.com/2010/08/blog-post_16.html

    उत्तर देंहटाएं
  5. Get your book published.. become an author..let the world know of your creativity. You can also get published your own blog book!

    www.hummingwords.in

    उत्तर देंहटाएं
  6. मेरे आजाद भारत को अब देखिए,
    हो रहे कत्ल हैं बेसबब देखिए,
    इस नई नस्ल को बेअदब देखिए,
    कैसे आ पायेगा मुल्क में अब अमन।
    उन शहीदों को मेरा नमन है नमन।।

    उत्तर देंहटाएं