समर्थक

मंगलवार, 31 अगस्त 2010

बहन क्यों रोती हो?

:: हंसने से चिंता, दुख,गुस्से, चिड़चिड़ेपन,आदि से निज़ात मिलती है। ::

बहन क्यों रोती हो?


यह वाकया उस दिन का है जब खदेरन की शादी हुई थी और फुलमतिया जी की अपने मायके से विदाई हो रही थी।
डाउनलोड करें परंपरा के अनुसार सब कुछ हुआ, यहां तक की फुलमतिया जी विदाई के अवसर पर रोए भी जा रही थी। उनको रोते देख फुलमतिया जी का भाई चटोरन दीदी के पास गया और बोला, “दीदी क्यों रो रही हो? चुप हो जाओ?” और फिर उसने अपने जीजा खदेरन की ओर इशारा करके बोला, “आज से जीवन भर रोना तो इनको है!”

16 टिप्‍पणियां:

  1. क्या शादी के बाद पति रोते ? हा हा ...

    उत्तर देंहटाएं
  2. आग देख कर ही समझ लेना चाहिए तपिश क्या है..जलना जरुरी है क्या हीहीहीहीही

    उत्तर देंहटाएं
  3. हा हा!! बहना को सही समझाईश दी चटोरन ने.

    उत्तर देंहटाएं
  4. यह तो झटका है जो धीरे से लगा है.

    उत्तर देंहटाएं
  5. खदेरन को शादी के बाद आपके चुटकुलों की सख्त जरूरत पड़ेगी !

    उत्तर देंहटाएं
  6. हा हा!हा हा!! बहना को सही समझाईश दी चटोरन ने.

    उत्तर देंहटाएं
  7. aise bahut saaare rone wale ke comments aa chuke hain.........:D

    उत्तर देंहटाएं
  8. हा हा हा ... लाजवाब ... क्या सच में ऐसा होता है ...

    उत्तर देंहटाएं
  9. हा हा हा ... लाजवाब !!! सच में ऐसा ही होता है ...

    उत्तर देंहटाएं