समर्थक

बुधवार, 25 अगस्त 2010

परीक्षा के परिणाम

:: हंसे मुस्कुराएं, शांति फैलाएं!! ::

परीक्षा के परिणाम

खदेरन, फुलमतिया और उनके सुपुत्र भगावन से अब तक तो आप भलि-भांति परिचित हो ही चुके हैं।

आज आपको उस दिन का किस्सा सुनाती हूं जिस दिन भगावन की पहली परीक्षा का परिणाम आया था।
खदेरन फुलमतिया - Copy (2) खदेरन कहीं बाहर गया था। शाम  में उसके घर में घुसते ही फुलमतिया जी बोलीं, “बच्चों की परीक्षा के परिणाम आ गए।”
खदेरन फुलमतिया - Copy खदेरन ने उत्सुकता से पूछा, “क्या हुआ?!”
खदेरन फुलमतिया - Copy (2) फुलमतिया जी बोलीं, “पड़ोसन झुलनिया की बेटी को 99 प्रतिशत अंक आए हैं।”
खदेरन फुलमतिया - Copy खदेरन को आश्चर्य हुआ। उसने कहा, “अच्छा….?! लेकिन उसके एक प्रतिशत अंक कहां गए?”
खदेरन फुलमतिया - Copy (2) फुलमतिया जी ने बताया, “वो हमारा बेटा भगावन ले आया है!”

17 टिप्‍पणियां:

  1. waah bhagaawan...jiyo jiyo...baap ka naam bahut raushan karoge tum..!
    ha ha ha ha...!

    उत्तर देंहटाएं
  2. रक्षा बंधन पर हार्दिक शुभकामनाएँ!!!!!
    Aap ka blog hasee ka TONIC hai...koee bhee hanse bina nahee jata.

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत अच्छी प्रस्तुति।
    *** भारतीय एकता के लक्ष्य का साधन हिंदी भाषा का प्रचार है! उपयोगी सामग्री।

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत अच्छी प्रस्तुति।
    *** भारतीय एकता के लक्ष्य का साधन हिंदी भाषा का प्रचार है! उपयोगी सामग्री।

    उत्तर देंहटाएं
  5. हा हा हा ...खदेरन ने अपने बेटे को खदेरा नहीं फिर ?

    उत्तर देंहटाएं
  6. Mamma ne btaya ....fir maine bhee pada ....aap ka chootkula !!!
    Ha ! ha! Ha !

    उत्तर देंहटाएं
  7. वाह, क्या कहने हैं!
    हाहाहाहाहा

    उत्तर देंहटाएं
  8. शाबास! शाबास भगावन।
    हा..हा..हा..

    उत्तर देंहटाएं
  9. WAAH .. KYA BAAT HAI ,,, AAJ KE IS TENSION SE BHARE YUG ME DO PAL KI KHUSHI KAHIUN SE MIL JAAYE TO BAHUT HI ACCHA HO ..AAPKO BADHAYI ...

    VIJAY
    आपसे निवेदन है की आप मेरी नयी कविता " मोरे सजनवा" जरुर पढ़े और अपनी अमूल्य राय देवे...
    http://poemsofvijay.blogspot.com/2010/08/blog-post_21.html

    उत्तर देंहटाएं
  10. हा हा!! भगावन कुछ तो लाया बेचारा.... :)

    उत्तर देंहटाएं