समर्थक

मंगलवार, 17 अगस्त 2010

आटा गूंथ दो..!

हंसना ज़रूरी है, क्यूंकि …


सांस बाहर की ओर छोड़ते समय रुक-रुक कर हंसने से शरीर के कई महत्वपूर्ण हिस्सों में रक्त का संचार सुचारू रूप से होता है, जिससे ये अंग मज़बूत होते हैं।

आटा गूंथ दो..!

बात तब की है जब खदेरन की नई-नई शादी हुई थी।

चूल्हा छुआने की रस्म भी पूरी हो गई थी। तो अब घर की बहू को ससुसाल में पहली बार खाना बनाना था।

Image लगता है नई-नई शादी के जोश में खदेरन कुछ चुहलबाज़ी के मूड  में था। किचन में घुस आया और फुलमतिया जी से बोला, “फुलमतिया  जी! आप ऐसी रोटी बना सकती हैं, जैसी मेरी Image माँ पकाती है।”

उस दिन पहली बार खदेरन को फुलमतिया जी के असल रूप से परिचय हुआ। फुलमतिया जी बोलीं, “क्यों नहीं! बस तुम वैसा ही आटा गूंथ जो जैसा तुम्हारे पिताजी गूंथा करते हैं।”

30 टिप्‍पणियां:

  1. हाहाहाहा.........पापा से कुछ तो सीखा ही होगा खदेरन जी ने.....इतने काम सीखे हैं तो ....हैं की नहीं....

    आप काफी जल्दी उठ जाती हैं.....क्य़ा?

    उत्तर देंहटाएं
  2. अब गूंध कर बताये खदेरन पिता के जैसा ही आटा ...
    अच्छा जवाब दिया ...

    उत्तर देंहटाएं
  3. sahi jawab..
    ii phoolmatiya hardam khaderan ka kilaas lete rahti hain...ha ha ha..

    उत्तर देंहटाएं
  4. सुंदर प्रस्तुति!


    “कोई देश विदेशी भाषा के द्वारा न तो उन्नति कर सकता है और ना ही राष्ट्रीय भावना की अभिव्यक्ति।”

    उत्तर देंहटाएं
  5. आआआआ............हा हा हा हा हा हा हा हा हा ........... बहुत सही............

    उत्तर देंहटाएं
  6. वाह, क्या दहला मारा है नहले पर फूलमतिया जी ने! मजा आ गया.

    उत्तर देंहटाएं
  7. ha ha ha....
    eint ka jawaab pathar se.....

    Meri Nayi Kavita par aapke Comments ka intzar rahega.....

    A Silent Silence : Ye Kya Hua...

    Banned Area News : Rooney Mara Nabs Lead Role in The Girl with the Dragon Tattoo

    उत्तर देंहटाएं
  8. इसे कहते हैं नेहले पर देहला। बढिया।

    उत्तर देंहटाएं
  9. fulmatiya ji pure jos me hai ab khaderan ki khair nahi ha ha ha ha

    उत्तर देंहटाएं
  10. कभी कभार हम भी यह काम कर लेते हैं... जब मौज में होते हैं..
    अब यह मत पूछियेगा कि मौज क्या होती है

    उत्तर देंहटाएं
  11. ha..ha,,ha..ha..ha
    -
    -
    ये फूलमतिया तो बड़ी हुशियार है जी

    उत्तर देंहटाएं
  12. हा हा हा………………बिल्कुल सही कहा।

    उत्तर देंहटाएं
  13. कितना हंसू....लगता हें हंसा हंसा कर जरूर मोटा कर डौगी.

    उत्तर देंहटाएं
  14. हा हा!! मेरी बहु भी यही जबाब देगी मेरे बेटे को. :)

    उत्तर देंहटाएं
  15. हम तो खुदहि गूंथते हैं और खुदहि बनाते हैं.. खुदहि चुटकुला बने बैठे हैं

    उत्तर देंहटाएं