समर्थक

मंगलवार, 4 मई 2010

कल और आज में फर्क

कल और आज में फ़र्क
कल
दुल्हन : "सारे रिश्ते-नाते मैं तोड़ के आ गयी.... ! लो मैं तेरे वास्ते सब छोड़ के आ गयी.... !!"
आज
दूल्हा : "सारे रिश्ते-नाते तू तोड़ के आ गयी..! तेरी मम्मी तेरे पीछे देखो दौड़ के आ गयी.. !!"

**********************************************************
हा..हा...हा...हा.... ! अगर पसंद आया तो दिल खोलकर ठहाका लगाइएगा।
***************************************************************

16 टिप्‍पणियां:

  1. "तेरी मम्मी तेरे पीछे देखो दौड़ के आ गयी.. !" - सही है
    इतने दिनों आपको फिर से पढना सुखद लगा

    उत्तर देंहटाएं
  2. कहाँ थी आप?
    हा हा ठहाके लगा रहा हूँ

    उत्तर देंहटाएं
  3. काफी दिनों के बाद ...आपको वापस देख कर बहुत अच्छा लगा..... आप कैसी हैं?

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत दिनों बाद आपस देख कर अच्छा लगा. मजेदार...

    उत्तर देंहटाएं
  5. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  6. हा-हा-हा-हा
    पुनरागमन पर स्वागत है।

    उत्तर देंहटाएं
  7. aapki prateeksha thi...
    accha hua aap aa gayin...
    vaise bhi hansne ke mauke kitne kam hote hain ..

    उत्तर देंहटाएं
  8. तेरी मम्मी तेरे पीछे देखो दौड़ के आ गयी.....

    satya hai ya vyangya........... jo bhi hai thahakaa to lagaanaa hee padega... ha...ha...ha.... !!

    उत्तर देंहटाएं