समर्थक

शुक्रवार, 21 मई 2010

मर्ज बढ़ता ही गया...

मास्टर जी : "ज्यों-ज्यों इलाज किया मर्ज बढ़ता ही गया।"......... "ज्यों-ज्यों इलाज किया मर्ज बढ़ता ही गया......।" इस पंक्ति में कवि का आशय क्या है?

चौपटनाथ : मास्टर जी ! लगता है कि कवि का इलाज किसी सरकारी अस्पताल में चल रहा है।

****************************************************
अगर पसंद आया तो दिल खोलकर ठहाका लगाइएगा।
****************************************************

12 टिप्‍पणियां:

  1. हा हा!! सही जबाब!! लॉक किया जाये!!

    उत्तर देंहटाएं
  2. बच्चा समझदार है...... ha ha ha ha ha ha ha ha jha ha ha ha ha .........

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत सुन्दर!
    ............मज़ेदार!

    उत्तर देंहटाएं