समर्थक

रविवार, 23 मई 2010

नोंक-झोंक

नोंक-झोंक

खाना खाते समय यकायक खाते-खाते हाथ रुक गया।

 

श्रीमतीजी से श्रीमान जी  बोले, “देखो, दाल में यह बटन निकला है।”

 

श्रीमतीजी चम्मच उठाकर दाल में चलाने लगीं।

 

श्रीमान जी ने पूछा, “यह क्या कर रही हो?”

 

श्रीमतीजी बोलीं,”देख रही हूँ --- शायद सूई-धागा भी इसी में मिल जाए।“

7 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत खूब शायद सुई धागा भी खोया होगा

    उत्तर देंहटाएं
  2. देख रही हूँ --- शायद सूई-धागा भी इसी में मिल जाए।“

    हा...हा...हा...
    बहुत ही मजेदार ......

    उत्तर देंहटाएं
  3. हाहााहहा
    कहीं कोट भी तो टुकड़ों में नहीं खो गया था।
    मस्त

    उत्तर देंहटाएं