समर्थक

सोमवार, 14 जून 2010

यह क्या है?!

यह क्या है?!

एक विदेशी पर्यटक टैक्सी से आगरे पर्यटन के लिए निकला। सबसे पहले ताजमहल आया।

उसने टैक्सी ड्राइवर से पूछा, “यह क्या है?”

टैक्सी ड्राइवर ने कहा, “ताजमहल!”

विदेशी, “कितने दिनों में बना?”

ड्राइवर, “22 साल में।”

विदेशी, “हमारे यहां के मजदूर तो ऐसा कंस्ट्रक्शन 2 साल में ही बना देते हैं।”

फिर एक दूसरी इमारत आइ।

विदेशी ने पूछा, “यह क्या है?”

ड्राइवर, “लाल किला!”

विदेशी, “कितने दिनों में बना?”

ड्राइवर, “दस साल में।”

विदेशी, “हमारे यहां के मजदूर तो ऐसा कंस्ट्रक्शन एक साल में ही बना देते हैं।”

इसी तरह से पूछते उत्तर देते-देते दिल्ली आ गई।

एक लम्बा सा स्तम्भ जैसा स्ट्रक्चर था।

विदेशी ने पूछा, “यह क्या है?”

ड्राइवर – “यहां लिखा है – कुतुब मीनार!”

विदेशी – “कितनों दिनों में बना?”

ड्राइवर- “पता नहीं। सुबह यहां से जा रहा था तब तो यहां कुछ भी नहीं था।”

15 टिप्‍पणियां:

  1. वाह क्या खूब
    ऐसा मेरे पड़ोस में भी हुआ
    सुबह उनके परिवार में चार लोग थे शाम तक पाँच हो गये

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत खूब ...

    इस चुट्कुले को हर बार पढ्ने - सुनने मे मज़ा आता है ...
    आखिर देश की नाक का स्वाल है जी ...!!!!

    उत्तर देंहटाएं
  3. ड्राइवर को सलाम :) इन विदेशियों को इसे ही जबाब समझ में आते हैं :)

    उत्तर देंहटाएं
  4. ड्राइवर ने तो कमाल ही कर दिया----मजेदार-----।

    उत्तर देंहटाएं