समर्थक

बुधवार, 16 जून 2010

स्टाफ हैं

स्टाफ हैं

_a_stump चुनाव का माहौल था। नेताजी वोट मांगने निकले।

 

रास्ते में भिखारी मिल गया। बोला, “अल्ला के नाम पर दे-दे, इश्वर के नाम पर दे दे!!”

 

“स्टाफ हैं हम, अबे हमें तो छोड़।” नेताजी यह कह आगे निकल गए।

18 टिप्‍पणियां:

  1. छोड़ ही देना चाहिये
    वाह ..

    उत्तर देंहटाएं
  2. हा हा हा
    बहुत बढ़िया ।
    इश्वर को ईश्वर कर दीजिए।

    उत्तर देंहटाएं
  3. वाह जी वाह !
    “स्टाफ हैं हम, अबे हमें तो छोड़।”
    मज़्ज़्ज़ेदार !
    - राजेन्द्र स्वर्णकार
    शस्वरं

    उत्तर देंहटाएं
  4. चुनाव के टाइम तो ऐसे ही हाल होते है नेता जी के..

    मजेदार..

    उत्तर देंहटाएं
  5. हमसे टिप्पणी भेजने को न कहिये। हम तो स्टाफ हैं! हा...हा...हा...।

    उत्तर देंहटाएं
  6. हा---हा--नेता और भिखारी---एक ही कम्पनी के स्टाफ़---।

    उत्तर देंहटाएं