समर्थक

शुक्रवार, 10 दिसंबर 2010

समर्थन

एक दिन फुलमतिया जी और खदेरन में जम कर हुआ, वही जो पति-पत्नी में होता है। अपनी स्थिति कमज़ोर होते देख खदेरन ने भगावन से कहा, “तुम्हें मेरा समर्थन करना होगा।”

भगावन भी कम पोलटिशियन थोड़े है, बोला, “आपकी और मम्मी की लड़ाई के बीच मैं नहीं पड़ूंगा। पर पापा आप नर्वस न हों, आपको बाहर से मेरा समर्थन मिलता रहेगा!”

13 टिप्‍पणियां:

  1. खूब .. बाहरी समर्थन
    मेरा भी बाहर से समर्थन

    उत्तर देंहटाएं
  2. ओह, तो सरकार खतरे में रहेगी :)

    उत्तर देंहटाएं
  3. अरे,अब तो भगवान भी राजनीति सीख गए.

    उत्तर देंहटाएं
  4. नेता के सारे गुण आ गये…………हा हा हा।

    उत्तर देंहटाएं
  5. भगावन की स्थिति निर्दलीय उम्मेदवार की तरह है जो मां से भी जेब खर्च लेगा और पापा से भी।

    उत्तर देंहटाएं