समर्थक

रविवार, 5 दिसंबर 2010

फुलमतिया जी के प्रश्न खदेरन की परेशानी-३

पिछली बार फुलमतिया जी के प्रश्न-१, और प्रश्न–२ का उत्तर न दे सका था खदेरन। तो उसका हौसला बढाने के लिए फुलमतिया जी ने कहा, “कोई बात नहीं अब तीसरे प्रश्न का उत्तर दो। जब फ़र्स्ट फ़्लोर पर बनाया पेट्रोल पम्प नहीं चला, मतलब एक भी ग्राहक नहीं आए तो खखोरन चारों भाइयों ने उसी फ़्लोर पर एक रेस्टोरेंट खोल लिया। पर फिर भी कोई ग्राहक नहीं आया। तब उन चारो भाइयों ने एक टैक्सी ले ली। दिन भर सवारी की खोज में इधर-उधर घूमते रहे, पर एक भी सवारी नहीं आया। बोलो क्यों?”

images (4)खदेरन माथा खुजाने लगा। उसकी समझ में ही नहीं आ रहा था कि क्या जवाब दे। उसने  हार मान ली तो फुलमतिया जी बोलीं, “वेरी सिम्प्ल! २ भाई आगे और २ भाई पीछे बैठ कर सवारी खोज रहे थे .. हा. हा. हा..हा,…..!”

16 टिप्‍पणियां:

  1. फुलमतिया जी के फ़्लाइटेड बॉल में खदेरन बार-बार फंस ही जाता है, पर अगली बार ऐसा नहीं होगा। खदेरन ... बी रेडी फ़ॉर ने़ट क्वेश्चन...
    मज़ेदार!
    हा-हा-हा....

    उत्तर देंहटाएं
  2. फूलमतिया जी खदेरन की बढ़िया क्लास ले रही है लगे रहिये उसे बुद्धिमान बना कर ही छोड़ियेगा |

    उत्तर देंहटाएं
  3. सटीक उत्तर दिया ...पर बेचारा खदेरन ...:):)

    उत्तर देंहटाएं
  4. हम्म्म तो और भी हैं संते-बंते इस दुनिया में

    उत्तर देंहटाएं
  5. खदेरन को कुछ दिन शंखपुष्पी पिलाईये :)

    उत्तर देंहटाएं
  6. किस बिज़नेस स्कूल में इन्होंने पढाई की है!! कमाल कमाल के आईडिया लेकर आते हैं..

    उत्तर देंहटाएं