समर्थक

बुधवार, 20 अप्रैल 2011

जानवर

images (26)भगावन एक दिन बुरा सा मुंह बना कर घर लौटा।

मम्मी फुलमतिया जी ने पूछा, “क्या हुआ बेटा? तेरा मुंह क्यों उतरा हुआ है?”

भगावन ने एक तरफ़ अपना बस्ता पटकते हुए कहा, “कुछ नहीं।”

फुलमतिया जी को लगा कुछ गड़बड़ ज़रूर है, “अरे! बता तो सही।”

“मम्मी मैं कल से स्कूल नहीं जाऊंगा।” भगावन ने घोषणा की।

New Picture (2)“क्यों?” फुलमतिया जी थोड़े विस्मय से पूछीं।

भगावन ने बताया, “मेरी टीचर मिसस मैना बहुत ही गंदी है। मेरे Home Work को देख कर बोली तू तो किसी जानवर की औलाद है।”

अभी तक तटस्थ भाव से मां-बेटे के वार्तालाप को सुन रहा खदेरन ने बेटे में हौसला जगाने के उद्देश्य से कहा, “ओए पुत्तर! फ़िकर मत कर …! तू तो शेर का बेटा है, शेर का!!”

8 टिप्‍पणियां: