समर्थक

शनिवार, 6 नवंबर 2010

लड़ाई रोकने के लिए!

लड़ाई रोकने के लिए!

एक दिन भगावन बड़ी तेजी से भागा जा रहा था। उसे यूँ भागता देख उसका दोस्‍त पलटू ने उससे पूछा “भगावन तुम इस तरह क्‍यों भाग रहे हो?”

भगावन ने जबाव दिया, “लड़ाई रोकने के लिए!”

पलटू ने पूछा, “कौन कर रहा है लड़ाई?”

भगावन ने बताया, “मैं और वह लड़का, जो मेरे पीछे भागा आ रहा है।”

16 टिप्‍पणियां:

  1. बड़े युद्ध रोकने का नुस्खा और अभ्यास :))

    उत्तर देंहटाएं
  2. सही उपाय है .. सबक लेना चाहिये

    उत्तर देंहटाएं
  3. ज्योति पर्व के अवसर पर आप सभी को लोकसंघर्ष परिवार की तरफ हार्दिक शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  4. shi khaa jnab ldaayi rokne ka isse behtr triqaa or kuch ho bhi nhin sktaa. akhtar khan akela kota rajsthan

    उत्तर देंहटाएं
  5. इसे कहते है पलटू का पलटवार

    उत्तर देंहटाएं
  6. Kaha Jata hai hasna Swasthya ke liye jaruri hai-
    Pnool ki tarah mera man bhi khil gaya.Bahut hi achha laga.Good Morning.

    उत्तर देंहटाएं
  7. यह भी एक तरीका है, लड़ाई रोकने के लिये।

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत बढ़िया नुस्खा.
    सादर
    डोरोथी.

    उत्तर देंहटाएं
  9. आपको एवं आपके परिवार को दिवाली की हार्दिक शुभकामनायें!

    उत्तर देंहटाएं
  10. हंसी की फुलझडियों के साथ दीपावली की शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  11. तरीका बढ़िया है |
    आपको दिवाली की हार्दिक शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं