समर्थक

बुधवार, 24 नवंबर 2010

आंसू

कभी-कभार खदेरन भगावन को पढाने बैठ जाता था। अब भगावन तो भगावन है। बाप कोई प्रश्न करे उसके पहले वही प्रश्न कर दे। उस दिन भी ऐसा ही हुआ। भगावन ने पूछा, “ पापा! मां के आंसू और पत्नी के आंसू में क्या फ़र्क़ होता है?”

खदेरन ने जवाब दिया, “बेटा, मां के आंसू दिल पर असर करते हैं और पत्नी के आंसू जेब पर!”

17 टिप्‍पणियां:

  1. दिल और जेब बहुत पास-पास होते हैं :))

    उत्तर देंहटाएं
  2. कटी जेब की सत्यकथा.. एक कैंची धारदार...

    उत्तर देंहटाएं
  3. हम्म ...वैसे यही सोच पत्नियों को रुलाती भी है ..

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत खूब
    कभी यहाँ भी आये

    www.deepti09sharma.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  5. सटीक जवाब.
    सादर
    डोरोथी.

    उत्तर देंहटाएं
  6. बेटा, मां के आंसू दिल पर असर करते हैं और पत्नी के आंसू जेब पर!”

    उत्तर देंहटाएं