समर्थक

गुरुवार, 18 नवंबर 2010

घटी उम्र

खदेरन फुलमतिया जी के बहुत बोलने से परेशान रहता था।
और फुलमतिया जी जो खुद को कम उम्र खदेरन को बुजुर्ग समझती थी, आजकल फ़ास्ट से सु्पर फ़ास्ट हो गई थीं।
खदेरन इसका उपाय ढूंढ रहा था, पर कुछ हाथ ही नहीं लग रहा था।
एक दिन अखबार के एक आलेख पर उसकी नज़र गई।
पढकर फुलमतिया जी से बोला, “अजी सुनती हैं, डॉक्टरों का कहना है कि ज़्यादा बोलने से इंसान की उम्र कम हो जाती है।”
फुलमतिया जी चहकीं, “आब तो तुम्हें यक़ीन हो गया न कि मेरी उम्र ४० से घट कर २० हो गई है।”

18 टिप्‍पणियां:

  1. Love your jokes. I don't get to leave a comment everyday, but I read them regularly.

    उत्तर देंहटाएं
  2. अब सबको समझ आ गया होगा की महिलाओ की उम्र बढ़ने के बजाये घटने क्यों लगती है हा हा हा

    उत्तर देंहटाएं
  3. हा हा हा……………बेचारा खदेरन!!!

    उत्तर देंहटाएं