समर्थक

रविवार, 13 दिसंबर 2009

डॉक्टर

अगर पसंद आया तो दिल खोलकर ठहाका लगाइएगा।

बिहारी लाल, तुमने अपनी खूबसूरत रिसेप्शनिष्ट को नौकरी से क्यों निकाल दिया?

डॉक्टर, क्योंकि उसकी वजह से मेरा धंधा बिगड़ गया था।

बिहारी लाल, अच्छा, वह कैसे?

डॉक्टर, मैंने अपने कई मरीज़ों को यह कहते सुना कि उनकी बीमारी उसकी एक मुस्कुराहट से दूर हो जाती है।

********************************************************************

अगर पसंद आया तो ठहाके लगाइएगा

********************************************************************


8 टिप्‍पणियां: