समर्थक

रविवार, 20 दिसंबर 2009

मुन्ना भी, "ऐ सर्किट, तू तो बहोत फिलीम देखता है बे। अब देख ना... कोई भीच गाना लेले.... उसमे हेरोइन फटाफट कपडे चेंज करेली है रे.... पण अपुन के भेजे में ये नही आया कि 'गाइड' फिलिम के गाने, 'गाता रहे मेरा दिल...." में अक्खा टाइम वो 'वहीदा जी' एक हीच गुलाबी सादी में क्यूँ नाच रहेली थी ?
सर्किट, "सिम्पल भाई ! वो आपने पुरा गाना सुना नही... अगले हीच लाइन में वो देव साब बोलता है ना.... ओ मेरे हमराही मेरे हाथ थामे चलना.... बदले दुनिया 'सारी' तुम न बदलना'..........!"
**********************
अगर पसंद आया तो दिल खोलकर ठहाका लगाइएगा।

8 टिप्‍पणियां: