समर्थक

बुधवार, 16 दिसंबर 2009

पागल

एक पागलखाने में मंत्रीजी आने वाले थे। मैनेजर ने सभी पागलों को बता दिया कि जब नेताजी आएं तो बोलना देश का नेता ज़िंदाबाद, हमारा नेता ज़िंदाबाद।

सभी पागलों ने मंत्रीजी के आने के बाद ऐसा ही किया। तभी मंत्रीजी की नज़र पास खड़े व्यक्ति पर गई। वह कुछ नहीं बोल रहा था। मंत्रीजी ने उससे पूछा, तुम नेताजी ज़िंदाबाद, हमारा नेता ज़िंदाबाद का नारा क्यों नहीं लगा रहे हो?

वह व्यक्ति बोला, जी मैं कोई पागल थोड़े ही हूँ। मैं तो यहां का चौकीदार हॅँ।

********************************************************************

अगर पसंद आया तो ठहाके लगाइएगा

********************************************************************

8 टिप्‍पणियां: