समर्थक

गुरुवार, 23 सितंबर 2010

बुझावन के प्रश्‍न, बतावन का जवाब!-8

बुझावन के प्रश्‍न, बतावन का जवाब!-8

बुझावन : डॉक्‍टर अपने प्रेस्क्रिप्‍शन पर क्‍या लिखते हैं कि मरीज को कुछ समझ नहीं आता, पर दुकानदार समझ जाता है!

बतावन : उसमें लिखा होता है, मैं तो इसे लूट चुका, अब तू भी लूट!

27 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत ही बढ़िया टिप्पणी आज की वास्तविकता पर. वाह..वाह..

    उत्तर देंहटाएं
  2. हा हा हा ! बिल्कुल सही और सठिक व्यंग्य !

    उत्तर देंहटाएं
  3. हा..हा..हा..हा.....
    बुझावन के बात में दम है ।

    उत्तर देंहटाएं
  4. बिल्कुल सही और सठिक व्यंग्य !

    उत्तर देंहटाएं
  5. मजबूरों को जिस तरह, लूट सके तो लूट
    रोगी जीये, या मरे, तुझ को है सब छूट

    उत्तर देंहटाएं
  6. हा हा हा……………बिल्कुल सही।

    उत्तर देंहटाएं
  7. हा हा हा हा फ़िर दोनों मिल कर लूटते हैं ..हा हा हा

    उत्तर देंहटाएं