समर्थक

मंगलवार, 7 सितंबर 2010

खदेरन की समझदारी

खदेरन की समझदारी

खदेरन अब काफी समझदार होता जा रहा है। अब देखिए ना! उस दिन फाटक बाबू उसके यहां पहुंचे, और पूछे “क्‍या कर रहे हो खदेरन?”

खदेरन फुलमतिया - Copyखदेरन बोला “मक्खियां मार रहा हूँ।”

 

फाटक बाबू ने पूछा, “कितनी मारी?”

 

खदेरन फुलमतिया - Copyखदेरन ने जवाब दिया “पांच, जिसमें से तीन मेल थी और दो फीमेल।”

फाटक बाबू को आश्‍यर्च हुआ उन्‍होंने अपने आश्‍चर्य के समाधान के लिए पूछा- “तुम्‍हें कैसे पता कि कौन मेल थी और कौन फीमेल?”

खदेरन फुलमतिया - Copyखदेरन ने बड़े निश्चिंतता में जवाब दिया, “सीधी सी बात है फाटक बाबू। तीन शराब की बोतल पर बैठी थी और दो टेलिफोन पर।”

27 टिप्‍पणियां:

  1. सही पहचाना..

    खदेरन अब काफी समझदार होता जा रहा है.

    उत्तर देंहटाएं
  2. हाहाहाहाहाहाहाहाहाहाहाहाहााहाहाा

    मगर गलती भी हो सकती है....आजकल उल्टा भी होता है.....

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत समझदारी दिखा रहा है खदेरन। फुलमतिया जी को पता है कि नहीं?

    हिन्दी का प्रचार राष्ट्रीयता का प्रचार है।

    हिंदी और अर्थव्यवस्था, राजभाषा हिन्दी पर, पधारें

    उत्तर देंहटाएं
  4. भाई खदेरन तो बहुत बुद्धिजीवी निकला ...हा हा हा

    उत्तर देंहटाएं
  5. Purusho aur Mahilao ke basic characterstics ko sahi pahachana khaderan ne.

    उत्तर देंहटाएं
  6. हा हा ...सही पहचान ...वाकई बहुत समझदार हो गया है खदेरन

    उत्तर देंहटाएं
  7. हा हा हा हा ! बड़ा मज़ेदार! आख़िर खदेरन बहुत ही समझदार निकला जो महिला और पुरुष मक्खी को सही पहचाना!

    उत्तर देंहटाएं
  8. मगर गलती भी हो सकती है....आजकल उल्टा भी होता है

    brobar baat.....

    wiase ham to aapki hi baat se sahmat hain...

    hamse bottle nahin chhutti..aur unse teliphone...

    उत्तर देंहटाएं
  9. वाह
    बहुत सही
    खदेरन की समझदारी के हम कायल हो गए

    उत्तर देंहटाएं
  10. क्या आपने हिंदी ब्लॉग संकलक हमारीवाणी" का क्लिक कोड अपने ब्लॉग पर लगाया हैं?

    हमारीवाणी एक निश्चित समय के अंतराल पर ब्लाग की फीड के द्वारा पुरानी पोस्ट का नवीनीकरण तथा नई पोस्ट प्रदर्शित करता रहता है. परन्तु इस प्रक्रिया में कुछ समय लगता है. हमारीवाणी में आपका ब्लाग शामिल है तो आप स्वयं क्लिक कोड के द्वारा हमारीवाणी पर अपनी ब्लागपोस्ट तुरन्त प्रदर्शित कर सकते हैं.

    कोड के लिए यहाँ क्लिक करें

    उत्तर देंहटाएं
  11. खदेरन तो आधुनिक बीरबल निकला.

    उत्तर देंहटाएं
  12. क्या बात है, मजा आ गया .....
    यहाँ भी आइये ........ हसने के कुछ कारन यहाँ भी है
    http://thodamuskurakardekho.blogspot.com/2010/09/blog-post_06.html

    उत्तर देंहटाएं
  13. वाह क्या पहचान है ... मज़ा आ गया ...

    उत्तर देंहटाएं