समर्थक

शनिवार, 4 सितंबर 2010

मम्मी से पूछो

:: हंसते समय हमारा दिमाग तनावमुक्त हो जाता है। ::

मम्मी से पूछो


खदेरन फुलमतिया - Copy - Copy एक दिन खदेरन ने अपने बेटे भगावन का जी.के. टेस्ट करने का मन बना लिया। उसने भगावन को बुलाया और पूछा, “ये रावी, चेनाब और सतलज कहां है?”

भगावन ने पापा की ओर देखा और कहा, “आप मुझसे क्यों पूछते हैं? मम्मी से पूछिए, वही चीज़ों को इधर-उधर रख देती है।”

21 टिप्‍पणियां:

  1. यह घर घर की समस्या लगती है.

    उत्तर देंहटाएं
  2. हमारे यहाँ भी यही हाल है। ढूढ़ते हैं हम भी।

    उत्तर देंहटाएं
  3. ये two in one joke है, प्रत्यक्ष तो जाहिर है ही, पर परोक्ष रूप से भी त्रिया चरित पर करारा व्यंग्य है! अब जनाब नारी मुक्ति मोर्चा के ज़माने में सीधे सीधे तो नहीं कह सकते न !

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत ही अच्छा कहा आपने. मजा आ गया

    उत्तर देंहटाएं
  5. हा हा हा ....सारा दोष मम्मी पर ही आ जाता है ..

    उत्तर देंहटाएं