समर्थक

बुधवार, 21 जुलाई 2010

विल पॉवर

हंसना ज़रूरी है, क्यूंकि …


हंसने से अल्सर, अर्थराइटिस, स्ट्रोक, डायबिटीज़ आदि के प्रभाव में कमी आती है!

विल पॉवर


बाज़ार में घूमते एक भिखारी की नज़र एक थुल - थुल काय धनाढ्य महिला पड़ी। वह उसके पास गया और बोला, “मैंने चार दिनों से कुछ नहीं खाया …”

भिखारी की  बात पूरी होने से पहले ही वह महिला बोल पड़ी, “काश! तुम्हारी जैसी विल पॉवर मेरी भी होती …..!”

17 टिप्‍पणियां:

  1. हा हा
    किसी की मजबूरी किसी के लिये विल पावर

    उत्तर देंहटाएं
  2. हंसने से अल्सर, अर्थराइटिस, स्ट्रोक, डायबिटीज़ आदि के
    प्रभाव में कमी आ गई है जी!

    उत्तर देंहटाएं
  3. किसी के लिए मजबूरी ...किसी की बनी विल पॉवर ..
    हास्य के साथ व्यंग्य का तड़का ...!

    उत्तर देंहटाएं
  4. किसी के लिए मजबूरी ...किसी की बनी विल पॉवर ..
    क्या विडंबना है

    उत्तर देंहटाएं
  5. काश इसे पढने के बाद न हंसने की विल पावर होती।

    उत्तर देंहटाएं
  6. ha...ha....ha.....ha....ha....aur maine khaanaa khaate hue ya sab padhaa....theek se hans bhi nahin paayaaa

    उत्तर देंहटाएं
  7. किसी के लिए मजबूरी ...किसी की बनी विल पॉवर ..
    हास्य के साथ व्यंग्य का तड़का ...!

    उत्तर देंहटाएं
  8. हा हा
    किसी की मजबूरी किसी के लिये विल पावर

    उत्तर देंहटाएं
  9. शायद भिखारी बोला होगा, सवाल विल पॉवर नहीं बल्कि पॉकेट (या purchasing) पॉवर का है.

    उत्तर देंहटाएं