समर्थक

मंगलवार, 26 अक्तूबर 2010

बिज़नेस का तगड़ा अनुभव!

बिज़नेस का तगड़ा अनुभव!

एक दिन फाटक बाबू खदेरन को अपने पुराने दिनों के किस्से सुना रहे थे। खदेरन को यह जानकर आश्चर्य हुआ कि फाटक बाबू को बिज़नेस का भी बड़ा तगड़ा अनुभव है।

खदेरन ने ज़िद की, “फाटक बाबू अपने धंधे के बारे में डिटेल में बताइए न!”

फाटक बाबू बोले, “क्या बताऊं? अब तो ये सब भूले-बिसरे दिनों की बातें हैं।”

खदेरन बोला, “यही बताइए न कि बिज़नेस का अनुभव आपने कैसे प्राप्त किया?”

फाटक बाबू को बताना पड़ा, “जब मैंने बिज़नेस शुरु किया, तो  …..”

खदेरन ने उत्सुकता से पूछा, “अकेले शुरु किए थे?”

फाटक बाबू बोले, “नहीं, अकेले कैसे होता सब, एक पार्टनर भी तो रखना पड़ा था।”

खदेरन ने कहा, “फाटक बाबू आप तो इतने गुणी हैं, फिर भी  आपको पार्टनर की ज़रूरत पड़ी?”

फाटक बाबू ने समझाया, “अरे गुण तो अनुभव से आता है न! जब मैंने बिज़नेस शुरु किया, तो  ….. उस समय मेरे पास पूंजी तो थी पर इस बिज़नेस वाले लाइन का अनुभव नहीं था न। इसलिए हमको एक अनुभवी पार्टनर रखना पड़ा।”

समझने के बाद खदेरन बोला, “अच्छा! बड़ा अच्छा किया। त उस पार्टनर के पास बिज़नेस का अच्छा अनुभव था?”

फाटक बाबू बोले, “हां बड़ा अनुभवी था वह, इस लाइन का!”

खदेरन की आंखों में खुशी की लहर दौड़ गई। फिर पूछा, “तब त फाटक बाबू, आपकी पूंजी और उसके अनुभव के अद्भुत मेल से आपका धंधा खूब चमका होगा!”

hindi_front फाटाक बाबू बताए, “हा! भाई! खूब चमका! इतना चमका कि आखिर में उसके पास सारी पूंजी और मेरे पास ढेर सारा अनुभव हो गया!!”

22 टिप्‍पणियां:

  1. ऐसा अनुभव पाने वाले फाटक बाबु अकेले नहीं है कइयो को ऐसे अनुभव मिल चुके है |

    उत्तर देंहटाएं
  2. पार्टनर ने पैसा शेयर नहीं किया, खदेरन ने अनुभव तो शेयर किया. धन्यवाद :))

    उत्तर देंहटाएं
  3. अनुभव का लाभी ज़्यादा मिलता है .. हा हा ...

    उत्तर देंहटाएं
  4. वाह! अद्भुत! चित्र सारी बातें बयां कर रही हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  5. अच्छा अनुभव है ..हा हा हा

    उत्तर देंहटाएं
  6. बाप बड़ा न भैया, सबसे बड़ा रुपय्या । तस्वीरे बहुत अच्ची लगाती हं आप । बिन बोले सबकुछ कह जाती है ।

    उत्तर देंहटाएं
  7. वाकई आज का दिन चुटकलों का दिन है......
    बढिया....... फोटो सहित..

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत-बहुत बधाई!
    --
    सुन्दर प्रस्तुति!
    --
    आपकी पोस्ट को बुधवार के
    चर्चा मंच पर लगा दिया है!
    http://charchamanch.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  9. सम सामयिक जीवन पर अच्छा व्यंग्य. आभार.
    सादर
    डोरोथी.

    उत्तर देंहटाएं
  10. भारतीय एकता के लक्ष्य का साधन हिंदी भाषा का प्रचार है!
    राजभाषा हिन्दी
    बहुत अच्छी प्रस्तुति।

    उत्तर देंहटाएं
  11. हा हा हा हा....

    मजेदार...खूब खूब मजेदार !!!



    आनंदित करने के लिए आभार !!!

    उत्तर देंहटाएं